IMG_1406

 

चेहरें पे सदियों के मौसम लिए खड़े हैं,

तेरी सोहबत का एक खुशरंग मौसम फिर आ जाये,

बस इस आस को आँखों में उतारे खड़े हैं….